Breaking News

इस बार नकल रोकने के लिए सभी परीक्षा केंद्रों में लगेंगे CCTV

Loading...


हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड मार्च में होने वाली बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर सभी परीक्षा केंद्रों में सी.सी.टी.वी. लगाने का प्रयास करेगा। हालांकि इस बारे अभी तक इस बात पर अंतिम मुहर नहीं लगी है कि सभी परीक्षा केंद्रों में सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएंगे। जानकारी के अनुसार हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने सभी प्राइवेट स्कूलों को दिल्ली में हुए प्रद्युमन कांड के बाद लैटर लिखा है कि वे अपने स्कूलों में सुरक्षा के मद्देनजर सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाएं।


बोर्ड की मानें तो सरकारी स्कूलों में सी.सी.टी.वी. कैमरे लगें, इस बारे पत्राचार किया जाएगा। यदि प्राइवेट व सरकारी स्कूलों में कैमरे लग जाते हैं तो उक्त कैमरों को परीक्षा केंद्रों में प्रयोग में लाया जा सकता है। बोर्ड ने हिदायत दी है कि उन्हीं स्कूलों को मान्यता दी जाएगी जिनमें सी.सी.टी.वी. कैमरे लगे होंगे। बोर्ड इस बारे शिक्षा मंत्री से भी बात कर चुका है कि सभी परीक्षा केंद्रों में सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए जाएं।

पिछले वर्ष 100 परीक्षा केंद्रों में लगे सी.सी.टी.वी. कैमरे

पिछले साल बोर्ड द्वारा लगभग 100 परीक्षा केंद्रों में नकल रोकने के लिए सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाए गए थे जिसके चलते जो स्कूल लंबे समय से बेहतर परिणाम दे रहे थे, उनके रिजल्ट में गिरावट आई थी। इस बार बोर्ड सभी परीक्षा केंद्रों में सी.सी.टी.वी. कैमरे लगाने की बात कर रहा है। इस वर्ष लगभग 1,915 परीक्षा केंद्रों की व्यवस्था की गई है। हालांकि उक्त परीक्षा केंद्रों में भी सब-सैंटर बनाए गए हैं जिसके चलते उक्त परीक्षा केंद्रों की संख्या लगभग 3,487 पहुंच जाती है। मैट्रिक के लिए 1,912 तो जमा-2 के लिए 1,575 परीक्षा केंद्रों की व्यवस्था है।

परीक्षार्थी परीक्षा केंद्रों को बदलने की होड़ में

पिछले साल बोर्ड द्वारा लगाए गए सी.सी.टी.वी. कैमरों के चलते यह भी देखने में आ रहा है कि परीक्षार्थी अपना परीक्षा सैंटर बदलने की कोशिश में हैं। बोर्ड परीक्षार्थी उनका सैंटर बदलने की गुहार बोर्ड से लगा रहे हैं। बोर्ड अधिकारियों की मानें तो कोई पुख्ता कारण होने पर सैंटर बदला जाता है। बिना पुख्ता कारण के सैंटर नहीं बदला जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं