Breaking News

अपनी पत्नी के नाम भर दे ये एक फॉर्म और फिर, हर महीने सैलरी देगी मोदी सरकार

अपनी धर्मपत्नी के नाम भर दे बस ये एक फॉर्म फिर चाहे वो नौकरी करे ना करे ,हर महीने सैलरी देगी मोदी सरकार

पनी पत्नी के नाम भर दे बस ये एक फॉर्म और फिर , हर महीने सैलरी देगी मोदी सरकार: आज के वक्त में हम सभी खुद को आत्मनिर्भर बनाना चाहते है | इसके लिए हम सभी काफी मेहनत भी करते है | और तब कही जाकर इंसान अपनी जिंदगी में जाकर किसी मुकाम पर पहुंचता है | और इसके बाद भी वह काफी परेशान रहता है | अक्सर अपनी जिंदगी में पैसो की तंगी से भी जूझता है | और इस बात के साथ-साथ कभी कभी काफी हताश भी हो जाते है | कही-न-कहीं ऐसा भी होता होगा की आपके पास पैसो की तंगी नही भी है लेकिन क्या आपने कभी अपनी पत्नी के बारे में सोचा है |

आज के समय में देखा जाये तो ज्यादातर हाउस वाइव्स घर गृहस्ती सँभालने में इतना व्यस्त रहती है की उनके लिए बाहर जाकर जॉब करना बेहद ही मुश्किल हो जाता है |ऐसे में हमारी मोदी सरकार ने उन गृहणियों के लिए एक ऐसी स्कीम निकाली है जिसके मदद से आपकी पत्नी घर परिवार सँभालते हुए हर महीने कुछ इनकम भी आसानी से कर सकती है और सबसे बड़ी बात ये है की आप उस इनकम को अपने हिसाब से तय कर सकते हैं |

और मोदी सरकार की इस योजना के जरिये आप अपनी वाइफ को भी सामाजिक सुरक्षा के दायरे में ला सकते हैं। आपकी वाइफ कभी भी पैसों के लिए किसी पर निर्भर नहीं रहेंगी।

खुलवाएं एनपीएस अकाउंट :

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के इस स्कीम का लाभ उठाने के लिए आप अपनी वाइफ का न्‍यू पेंशन सिस्‍टम यानी एनपीएस अकाउंट खुलवा सकते हैं। इस अकाउंट में आप अपनी वाइफ की इनकम के अनुसार हर माह पैसा जमा कर सकते हैं। 60 वर्ष की उम्र में एनपीएस अकाउंट मैच्‍योर हो जाता है। मैच्‍योरिटी आपकी वाइफ को एक बड़ा अमाउंट मिलेगा। इसके अलावा उनको हर माह पेंशन भी मिलेगी। यह पेंशन उनको पूरी लाइफ तक मिलती रहेगी।


जानें क्या है एनपीएस
एनपीए एक पेंशन प्रोडक्ट है और 2004 में सरकारी कर्मचारियों के लिए इसे शुरू किया गया। लेकिन, बाद में 2009 में आम लोगों के लिए इसे खोल दिया गया। 2011 में कॉरपोरेट्स कर्मचारियों के लिए इसमें निवेश की मंजूरी मिली |

कौन कौन कर सकता है निवेश


18-60 साल तक उम्र वाला कोई भी शख्स इसमें निवेश कर सकता है। एनपीएस, परंपरागत पेंशन स्कीम्स से अलग है। इस पेंशन फंड के निवेशकों का पैसा शेयर और बॉन्ड मार्केट में लगाया जाता है। मुनाफा बाजार के उतार-चढ़ाव पर निर्भर होता है। एनपीएस में लॉन्ग टर्म निवेश फायदेमंद होता है। एनपीएस में नियमित निवेश से अच्छा मुनाफा होता है। यह फंड पूरी तरह सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश करता है। इन प्रतिभूतियों पर कोई जोखिम नहीं होता और यह उपर्युक्त योजनाओं के मुकाबले कम रिटर्न देती है।


60 साल की उम्र में मिलेंगे 45 लाख रुपए :

हम आपको इस एनपीएस अकाउंट खुलवाने से होने वाले लाभ का एक उदाहरण देते है जिससे आप अच्छी तरह से इस स्कीम के बारे में समझ पाएंगे |मान लीजिये रीमा की उम्र 30 साल है और वे अपने एनपीएस अकाउंट में हर माह 5,000 रुपए का निवेश करती हैं जिसके निवेश पर उन्हें सालाना 10 फीसदी रिटर्न मिलता है तो 60 साल की उम्र में उनके अकाउंट में कुल 1 करोड़ 14 लाख रुपए होंगे। उनको इसमें से 45 लाख रुपए मिल जाएंगे।

कैसे खुलता है अकाउंट

सरकार ने देश भर में पॉइंट ऑफ प्रेजेंस (पीओपी) बनाए हैं, जिनमें एनपीएस अकाउंट खुलवाया जा सकता है। देश के लगभग सभी सरकारी और प्राइवेट बैंकों को पीओपी बनाया गया है, इसलिए किसी भी बैंक की नजदीकी ब्रांच में अकाउंट खुलवाया जा सकता है। अकाउंट खुलवाने के लिए इन दस्तावेजों की जरूरत होगी:
पूरा भरा गया रजिस्ट्रेशन फॉर्म, जो बैंक से मिलेगा।

  • एक अड्रेस प्रूफ।
  • एक आइडेंटिटी प्रूफ।
  • बर्थ सर्टिफिकेट या दसवीं का सर्टिफिकेट

कोई टिप्पणी नहीं