Breaking News

14 माह की मासूम बच्ची से रेप के बाद भड़की हिंसा, 150 लोग गिरफ्तार

Loading...

गुजरात के साबरकांठा जिला स्थित एक कंपनी में 14 माह की मासूम बच्ची से रेप की घटना के बाद राज्य में स्थानीय लोगों को गुस्सा फूट पड़ा। लोग इसके विरोध में सड़कों पर उतर आए हैं और उत्तर प्रदेश और बिहार के लोगों पर हमले कर रहे हैं
राज्य के पुलिस महानिदेशक शिवानंद झा ने बताया कि गुजरात का नाम खराब करने के लिए कुछ शरारती तत्वों की ओर से अंजाम दी जा रही इन घटनाओं को पुलिस बर्दाश्त नहीं करेगी। इस संबंध में कड़ी कार्रवाई की जा रही है। अब तक 18 मामले दर्ज कर 150 को पकड़ा गया है। हिसा प्रभावित ऐसे इलाके जहां बड़ी संख्या में गैर-गुजराती लोग रहते हैं वहां एसआरपी की 16 से 20 अतिरिक्त कंपनियां भेजी गयी। उन्होंने राज्य की जनता से भी ऐसे तत्वों को पकडऩे में पुलिस की मदद करने की अपील की।
झा ने कहा कि सोशल मीडिया पर इस मामले में अफवाह पर रोक के लिए निगरानी और कार्रवाई की जिम्मेदारी अहमदाबाद क्राइम ब्रांच की साइबर शाखा को दी गयी है। बता दें कि साबरकांठा के ढुंढर गांव में 14 माह की एक लड़की से गत शनिवार को हुई दुष्कर्म की घटना के मामले में स्थानीय सिरामिक फैक्ट्री में काम करने वाले बिहार निवासी एक मजदूर को पकड़ा गया था। उसके बाद कांग्रेस विधायक और ठाकोर सेना के अध्यक्ष अल्पेश ठाकोर ने इस मामले में कड़ी बयानबाजी की थी।
उक्त फैक्ट्री पर भी हमला हुआ था और गाड़ियों में आग लगा दी गयी थी। बाद में साबरकांठा, महेसाणा, गांधीनगर और अहमदाबाद शहर में भी ठाकोर सेना के कथित समर्थकों ने गैर गुजरातियों के आवास, दुकानों आदि पर हमले किये थे। कल देर रात महेसाणा के नंदासण के इंद्राड गांव में ऐसे ही हमले के दौरान पुलिस को 15 राउंड आंसू गैस के गोले छोडऩे पड़े थे।

कोई टिप्पणी नहीं